Wednesday, 7 August 2013

रेडियो धारावाहिक " प्रिया "

All India Radio will start broadcasting a new radio serial "PRIYA" from 8th August, 2013. The serial of 15 mts. duration will be broadcast from Multi- Cahnnels of AIR, Delhi on
Every Thursday on its Vividh Bharati Channel (219.3 Mtr/1368 KHz) at 6:15 p.m.
Every Friday on - FM Gold Channel (106.4 MHz) at 12:10 p.m., FM Rainbow Channel (102.6 MHz) at 2:45 p.m. and Indraprastha Channel (366.3 Mtr/819 KHz) at 12:45 p.m.

सदियों से अबला कहलाती रही नारी आज अपनी शक्ति और सामर्थ्य को पहचानने लगी है, उसका अपना एक व्यक्तित्व है, अपने एक पहचान है.
धारावाहिक "प्रिया" नारी शक्ति की कहानी है. ये कहानी है एक निर्धन, साधनहीन ग्रामीण युवती के संकल्प की और उसे पूरा करने के संघर्ष की वर्ष की एक पित्रहीन बालिका पढने -लिखने की लग्न लेकर रोज़ चार कोस ( आठ मील ) दूर पढने जाती है. क्योंकि उसके गाँव ने स्कूल नहीं है. कैसी विडंबना है, हमारा देश निरंतर विकास की और अग्रसर हो रहा है, सरकार विकास के लिए प्रयाप्त आर्थिक सहायता एवं संसाधन जुटा रही है लेकिन निहित स्वार्थों, बिचौलियों की बेईमानी, इच्छाशक्ति के अभाव के कारण कुछ जगहों पर विकास ना के बराबर हुआ है. क्रियान्वन में देरी और देरी और ढीले रवैये के कारण अधिकाँश जनता सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लाभ से वंचित रह जाती है.
हमारी नायिका "प्रिया" का गाँव भी एक ऐसा ही उपेक्षित गाँव है. वहां न स्कूल है, न अस्पताल है और ना बिजली है. नायिका जो अभी छोटी बच्ची है संकल्प करती है कि एक दिन वो गाँव में पवन उर्जा के द्वारा पवार प्लांट लगाएगी और गाँव में खुशहाली लाएगी। सफ़र बहुत लम्बा है, रास्ता अनेक विघ्न -बाधाओं से भरा है, पर उसे लक्ष्य तक पहुंचाना ही होगा, "प्रिया" की दृढ शक्ति को देखकर कवि की ये पंक्ति याद आती हैं:-
"आदमी चाहे तो फिर कुछ भी नहीं नामुमकिन
आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है"

दिनों दिन प्रगति करते हमारे देश की इस युवती ने बचपन में जो संकल्प किया था उसे वो पूरा करती है. नायिका "प्रिया" के माध्यम से ये धारावाहिक पूरे देश की साहसी और कर्मठ स्त्रियों को प्रतिनिधित्व करता है जो ग्रामीण लोगों में सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में जाग्रति उत्पन्न करती हैं और विकास के पथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है.
धारावाहिक में उठाये गए कुछ महत्वपूर्ण सामयिक विषय हैं:- दबंग लोगों की बदसलूकी, महिलाओं से छेड़छाड़ और अभद्र व्यवहार करने वालों को सबक सिखाती है और अन्याय के विरुद्ध आवाज़ उठती स्त्री शक्ति और देश के विकास में एकजुटता, धार्मिक और साम्प्रदायिक सदभाव का महत्व बतलाती है.

No comments:

Post a comment