Saturday, 19 April 2014

आकाशवाणी के प्रसारण शीघ्र नई डिजीटल तकनीक से जुड़ेगेःइंजिनियर-इन-चीफ, आर.के. बुद्धराजा



उदयपुर, आकाशवाणी महानिदेशालय नई दिल्ली के प्रमुख अभियंता आर.के. बुद्धराजा के सान्निध्य में आकाशवाणी में तकनीकी एवं कार्यक्रम विकास के नये आयाम विषयक संगोष्ठी का आयोजन शिल्पी रिसोर्ट के सभागार में हुआ। 

जिसमें उद्बोधन देते प्रमुख अभियंता ने कहा कि आकाशवाणी उदयपुर सहित देष के अनेक केन्द्रों को शीघ्र ही प्रसारण की नई डिजीटल तकनीक के साथ जोड़ा जिससे श्रोताओं को और अधिक स्पष्ट और गुणवतापूर्ण प्रसारण सुनने को मिलेगा। इसके लिए देश के आकाषवाणी के कई केन्द्रों पर कार्य शुरू किया जा चुका है। उन्होंने आकाशवाणी कर्मियों को नई तकनीक विधा को समझ कर अपने को अपडेट करने की आवश्यकता बताई। प्रमुख अभियंता ने बाद में मोहता पार्क स्थित आकाशवाणी उदयपुर के स्टूडियो परिसर में नव स्थापित सरस्वती देवी की मूर्ति अनावरण किया तथा स्टूडियो व दूरदर्षन रिले केन्द्र का अवलोकन किया। 

इस अवसर पर आर.के. बुद्धराजा का पगड़ी व माला पहनाकर, उपर्णा ओढ़ाकर कर अभिनंदन दिया गया।
संगोष्ठी के प्रारम्भ में अतिथियों का स्वागत करते हुए आकाशवाणी के उप महानिदेशक माणिक आर्य ने स्थानीय केन्द्र द्वारा प्रसारण के क्षेत्र में निर्मित एवं प्रसारित किये जा रहे कार्यक्रमों के बारे में बताया और कहा कि तकनीकी और कार्यक्रम कर्मियों के समन्वय व सहयोग से मेवाड़ के श्रोताओं को सूचना,शिक्षा और मनोरंजन के बेहतरीन प्रसारण सुनने को मिल रहे है। उन्होने ओ.बी. बेस कार्यक्रमों के कवरेज हेतु आधुनिक डिजीडल रिकार्डर की आवश्यकता प्रतिपादित की। संगोष्ठी में आकाशवाणी कार्यक्रम सलाहकार/श्रवण समिति के सदस्यों एवं क्षेत्र के आकाशवाणी केन्द्रों से आए केन्द्र अभियंताओं द्वारा जिज्ञासापूर्ण पूछे गये प्रश्नों के जवाब दिये । आकाशवाणी उदयपुर के निदेशक अभियांत्रिकी सतीश देपाल ने आकाशवाणी उदयपुर के प्राईमरी व एफ.एम. चैनलो के प्रसारणों की जानकारी प्रदान की। संगोष्ठी में केन्द्र अभियंताओं -राजेन्द्र नाहर, हेमेन्द्र सोनी, विजय ईसरानी, सहित तकनीकी कर्मियों व कार्यक्रम अधिकारियों ने भाग लिया।

अंत में आकाशवाणी कार्यक्रम सलाहकार समिति के सदस्य डॉ. प्रेम भंडारी ने सभी का आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ उद्घोषक राजेन्द्र सेन ने किया।



No comments:

Post a comment